सेना के पूर्व डॉक्टर्स ई-संजीवनी ओपीडी पर देंगे सेवा

रक्षा मंत्रालय के अनुसार सेना के पूर्व डॉक्टर्स अब भारत के सभी नागरिकों के लिए ईसंजीवनी ओपीडी पर ऑनलाइन परामर्श सेवा के लिए उपलब्ध होंगे। दरअसल भारतीय सेना ने मेडिकल कोर के जिन पूर्व डॉक्टर्स को वापस ड्यूटी पर बुलाया है, वे अब आम नागरिकों को टेलीमेडिसिन सेवा के माध्यम से ऑनलाइन कंसल्टेशन देने का काम करेंगे। इसके लिए भारत सरकार के ‘ई-संजीवनी’ (eSanjeevani) टेलीमेडिसिन प्लेटफ़ॉर्म का उपयोग किया जाएगा। कोविड मामलों में वृद्धि के साथ डॉक्टर्स की बढ़ती मांग की स्थिति में सेना के पूर्व डॉक्टर्स मदद करने के लिए आगे आ रहे हैं। भारतीय सेना के इस कदम से कोविड-19 महामारी से उत्पन्न चुनौतियों से निपटने में मदद मिलेगी।

स्पेसएक्स ने वर्ष 2022 में चन्द्र मिशन Doge-1 लॉन्च करने की घोषणा की

9 मई, 2021 को एलन मस्क की कंपनी स्पेसएक्स ने वर्ष 2022 के पहले क्वार्टर में ‘Doge-1 मिशन टू द मून’ लॉन्च करने कि घोषणा की है। जिसमें एलन मस्क की कमर्शियल रॉकेट कंपनी मेम द्वारा प्रेरित क्रिप्टोकरेंसी डॉगकॉइन को पेमेंट के तौर में स्वीकार करेगी। स्पेसएक्स एक एरोस्पेस कंपनी है। मस्क ने इसकी स्थापना वर्ष 2002 में की थी।
डॉगकॉइन (Dogecoin)
बिटकॉइन, इथीरियम, बाइनेंस कॉइन के बाद चौथी सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी डॉगकॉइन है। इसकी शुरुआत वर्ष 2013 में IBM के दो सॉफ्टवेयर इंजीनियर बिली मार्कस और जैक्सन पामर ने की थी। डॉगकॉइन की तेजी में एलन मस्क का भी काफी साथ रहा है।

रूस ने विकसित की कोरोना की सिंगल डोज वैक्सीन

कोरोना वायरस को काबू करने के लिए बाजार में डबल डोज (दो बार वैक्सीन लगवानी पड़ती है) के टीके विकसित किए जा चुके हैं। लेकिन अब रूस ने स्पूतनिक वी वैक्सीन के सिंगल डोज वाले वर्जन को इस्तेमाल करने की मंजूरी दी है। स्पूतनिक लाइट (Sputnik Light) नाम की इस वैक्सीन के 80 फ़ीसदी तक प्रभावी होने का दावा किया गया है। रूस ने स्पूतनिक लाइट का ट्रायल जनवरी, 2021 में शुरू किया था। रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (Russian direct investment fund-RDIF) ने 06 मई को यह जानकारी दी है। कोरोना वायरस के खिलाफ स्पूतनिक लाइट वर्जन 79.4 फ़ीसदी तक प्रभावी पाई गई है। इसकी कीमत $10 मतलब करीब 730 से भी कम है।

चीन माउंट एवरेस्ट पर बनाएगा विभाजन रेखा

कोरोना से बचाव के लिए चीन माउंट एवरेस्ट पर एक विभाजन रेखा स्थापित करेगा ताकि नेपाल की ओर से चढ़ने वाले पर्वतारोहियों से अलगाव हो सके। यह फैसला नेपाल की ओर से चढ़ने वाले पर्वतारोहियों के कोरोना संक्रमित होने पर लिया गया है। गौरतलब है कि नेपाल की ओर से माउंट एवरेस्ट का बेस कैंप कोरोना प्रभावित है और अभी तक सरकार ने वसंत पर्वतारोहण सत्र प्रतिबंधित नहीं किया है। पर्वतारोहण सत्र आमतौर पर अप्रैल और शुरुआती जून तक संचालित रहता है।

अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस : 12 मई

प्रतिवर्ष विश्वभर में 12 मई को ‘अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस’ के रूप में मनाया जाता है। इस दिवस का आयोजन मुख्य रूप से आधुनिक नर्सिंग की जनक फ्लोरेंस नाइटिंगेल नाइटिंगेल की याद में मनाया जाता है। अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस समाज के प्रति नसों के योगदान को चिह्नित करता है। अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस 2021 की थीम- ‘नर्स ए वॉयस टू लीड – ए विजन फॉर फ्यूचर हेल्थकेयर’ (Nurses A Voice to Lead – A vision for future healthcare) है। इस दिवस को सर्वप्रथम वर्ष 1965 में इंटरनेशनल काउंसिल ऑफ नर्स (International Council of NursesICN) द्वारा मनाया गया था। किंतु जनवरी, 1974 से यह दिवस 12 मई को फ्लोरेंस नाइटिंगेल (Florence Nightingale) की सालगिरह पर मनाया जाने लगा।

RBI ने दूसरे विनियमन समीक्षा प्राधिकरण की मदद के लिए एस. जानकीरमन की अध्यक्षता में गठित किया सलाहकार समूह

1 मई, 2021 से एक वर्ष की अवधि के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने दूसरे विनियमन समीक्षा प्राधिकरण (Regulations Review Authority- RRA 2.0) की सहायता के लिए SBI के प्रबंध निदेशक एस.जानकीरमन की अध्यक्षता में एक सलाहकार समूह का गठन किया है। इस समूह में अध्यक्ष सहित कुल 6 व्यक्ति शामिल है। अन्य पाँच सदस्यों में टी. टी. श्रीनिवासराघवन (सुंदरम फाइनेंस के पूर्व प्रबंध निदेशक और गैर-कार्यकारी निदेशक), गौतम ठाकुर (अध्यक्ष, सारस्वत कोआपरेटिव बैंक), सुबीर साहा (समूह मुख्य अनुपालन अधिकारी, ICICI बैंक), रवि दुवुरु (अध्यक्ष और सीसीओ, जना स्माल फाइनेंस बैंक), अबदान विक्काजी (मुख्य अनुपालन अधिकारी, HSBC इंडिया) शामिल है।

कोरोना के इलाज में आइवरमेक्टिन दवा के इस्तेमाल को लेकर WHO ने दी फिर चेतावनी

10 मई, 2021 को गोवा सरकार ने 18 वर्ष के ऊपर सभी कोरोना संक्रमितों को आइवरमेक्टिन (Ivermectin) के इस्तेमाल की मंजूरी दी है। कुछ दिनों पहले एक रिसर्च में दावा किया गया है कि आइवरमेक्टिन दवा का वैश्विक स्तर पर इस्तेमाल कोरोना महामारी का अंत कर सकता है लेकिन 10 मई, 2021 को विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की चीफ साइंटिस्ट डॉक्टर सौम्या स्वामीनाथन ने इस दवा के इस्तेमाल को लेकर चेतावनी दी है। उनके मुताबिक ये दवाई सुरक्षित नहीं है।

ओडिशा सरकार ने मनोज दास अंतर्राष्ट्रीय साहित्य पुरस्कार देने की घोषणा

हाल ही में ओडिशा सरकार ने राज्य के प्रख्यात साहित्यकार मनोज दास की स्मृति में ‘मनोज दास अंतर्राष्ट्रीय साहित्य पुरस्कार’ प्रदान करने की घोषणा की है। यह पुरस्कार प्रतिवर्ष अंग्रेज़ी साहित्य में रचनात्मक योगदान देने वाले ओडिशा के साहित्यकारों को प्रदान किया जाएगा। इसके तहत पुरस्कार के तौर पर 10 लाख रुपए का नकद इनाम दिया जाएगा। ओडिशा के प्रख्यात शिक्षाविद और जाने-माने द्विभाषी साहित्यकार मनोज दास का हाल ही में 87 वर्ष की आयु में निधन हो गया था। वर्ष 1934 में ओडिशा में जन्मे मनोज दास ने ओडिया और अंग्रेज़ी दोनों ही भाषाओं में महत्त्वपूर्ण साहित्यिक रचनाएँ कीं। मनोज दास को साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में उनके योगदान के लिये वर्ष 2001 में पद्मश्री और वर्ष 2020 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था।

डॉ. ताहेरा कुतुबुद्दीन 15वां शेख जायद बुक पुरस्कार जीतने वाली भारतीय मूल की पहली व्यक्ति बनी

हाल ही में मुंबई में जन्मी डॉ. ताहेरा कुतुबुद्दीन (Dr Tahera Qutbuddin) 15वाँ शेख जायद बुक पुरस्कार जीतने वाली भारतीय मूल की पहली व्यक्ति बनी है। इस पुरस्कार को अरब जगत का नोबेल पुरस्कार माना जाता है। डॉ. ताहेरा कुतुबुद्दीन (Dr Tahera Qutbuddin) शिकागो विश्वविद्यालय में अरबी साहित्य के प्रोफेसर थे। CLA उन्होंने वर्ष 2019 में लीडन के ब्रिल एकेडमिक पब्लिशर्स द्वारा प्रकाशित अपनी नवीनतम पुस्तक ‘अरबी ओरेशन – आर्ट एंड फंक्शन’ ‘ (Arabic Oration – Art and Function) के लिए पुरस्कार जीता है। पुस्तक में वह 7वीं और 8वीं सदी की अपनी मौखिक अवधि में अरबी साहित्य का एक व्यापक सिद्धांत प्रस्तुत किया है। वह आधुनिक समय के उपदेशों और व्याख्यान पर इसके प्रभाव की चर्चा करती है।