हिमा तेलंगाना हाईकोर्ट की पहली महिला चीफ जस्टिस

हिमा कोहली तेलंगाना हाईकोर्ट की चीफ जस्टिस बन गई हैं। राज्य में इस पद पर नियुक्त होने वाली वह पहली महिला हैं। उन्हें राजभवन में राज्यपाल तमिलीसाई सुंदरराजन ने शपथ दिलाई। अभी वे दिल्ली हाईकोर्ट में थीं। वह जस्टिस आरएस चौहान की जगह आई हैं।

केरल ने बर्ड फ्लू को आपदा घोषित किया

केरल ने बर्ड फ्लू को आपदा घोषित कर दिया है। राजस्थान, एमपी, हिमाचलप्रदेश, गुजरात व केरल में बर्ड फ्ल के मामले सामने आए हैं। यह पक्षियों में पाया जाने वाला एक वायरसजनित रोग है।

द क्रॉनिकल ऑफ फिलैन्थ्रॉपी सूची जारी

द क्रॉनिकल ऑफ फिलैन्थ्रॉपी द्वारा जारी सूची में दान देने के मामले में अमेजन फाउंडर जेफ बेजोस शीर्ष पर हैं। जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए उन्होंने 10 अरब डॉलर दान में दिए हैं। दूसरे स्थान पर नाइक के चेयरमैन फिलिप हैम्पसन नाइट व उनकी पत्नी पैनेलॉप नाइट हैं, जिन्होंने नाइट फाउंडेशन को 90 करोड़ डॉलर और ऑरेगन यूनिवर्सिटी को 30 करोड़ डॉलर का दान दिया है।

क्लेयर पोलोसाक पुरुषों के टेस्ट मैच में भाग लेने वाली पहली महिला मैच ऑफिशियल बनी

क्लेयर पोलोसाक पुरुषों के टेस्ट मैच में भाग लेने वाली पहली महिला मैच ऑफिशियल बनी हैं। पोलोसाक ऑस्ट्रेलिया के सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में चल रहे ऑस्ट्रेलिया-भारत श्रृंखला के चौथे टेस्ट में अम्पायर हैं।

राष्ट्रीय एयरोस्पेस प्रयोगशाला द्वारा तैयार किया गया स्वदेशी वेंटिलेटर

स्वस्थ वायु वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद व राष्ट्रीय एयरोस्पेस प्रयोगशाला द्वारा तैयार किया गया स्वदेशी वेंटिलेटर है। इसमें HEPA फिल्टर का प्रयोग किया गया है।

राज्य बॉल बैडमिंटन को मिली आरओए से मान्यता

राजस्थान बॉल बैडमिंटन संघ को राजस्थान ओलिंपिक संघ ने अस्थाई मान्यता प्रदान कर दी है। महासचिव राजपाल शर्मा और अध्यक्ष शौकत अली मंसूरी ने आरओए के अध्यक्ष जनार्दन सिंह गहलोत को धन्यवाद दिया।

रावतभाटा के भारी पानी संयंत्र को 5 साल और चलाने की मिली मंजूरी

देश के परमाणु ऊर्जा संयंत्रों में जरूरी भारी पानी उपलब्ध कराने वाला रावतभाटा भारी पानी संयंत्र अभी बूढ़ा नहीं हुआ है। इसके बेहतर रखरखाव से यह जवान बना हुआ है। इसे 5 साल के लिए और चलाने की अनुमति मिल गई है। 35 साल पुराने इस भारी पानी संयंत्र को 31 दिसंबर 2025 तक चलाने की अनुमति देश के स्वतंत्र निगरानी संस्था आणविक ऊर्जा नियामक बोर्ड एईआरबी ने जारी कर दी है। इससे रावतभाटा स्थित भारी पानी संयंत्र के कर्मचारियों में खुशी की लहर है।

शहर के आयुष को मिला डिजाइन अवॉर्ड-2020

हाल ही में ऐले डेकॉर अवॉर्ड्स का आयोजन किया गया। जिसमें जयपुर के डिजाइनर आयुष कासलीवाल को ऐले डेकॉर इंटरनेशनल डिजाइन अवॉर्ड इंडिया 2020 से नवाजा गया। आयुष को उनके इकाई असाई के लिए यह अवॉर्ड दिया गया है। जिसमें इन्हें यह टेबलटॉप कैटेगरी में मिला।
अवॉर्ड सेरेमनी के भारतीय सत्र का यह 19वां साल था, जिसका आयोजन 17 दिसंबर को किया गया। आयुष का यह कलेक्शन मिर्जा ग़ालिब पर आधारित रहा। उसमें उन्होंने जयपुर व देश के इतिहास, रंग, जश्न और लाइफस्टाइल को दर्शाया।

रेशफोर्ड सबसे कीमती; मेसी 97वें पर खिसके, रोनाल्डो भी टॉप-100 से हुए बाहर

इंग्लैंड और मैनचेस्टर यूनाइटेड के मार्कस रेशफोर्ड दुनिया के सबसे वैल्यूएबल फुटबॉलर हैं। सीआईईएस फुटबॉल की रिपोर्ट के अनुसार, 23 साल के स्ट्राइकर की ट्रांसफर वैल्यू करीब 1490 करोड़ रुपए है। क्लब के साथ उनका कॉन्ट्रैक्ट 2024 तक है। बार्सिलोना के मेसी की ट्रांसफर वैल्यू 486 करोड़ है। 33 साल के मेसी 97वें स्थान पर हैं। इस सीजन में कॉन्ट्रैक्ट खत्म हो रहा है।

वायु प्रदूषण से भारत, बांग्लादेश व पाक में सालाना 3.50 लाख गर्भपात

दुनिया के जिन इलाकों की हवा सबसे ज्यादा प्रदूषित है वहां गर्भावस्था का नुकसान, मिसकरेज और मृत बच्चों का जन्म सबसे ज्यादा है। लैंसेट हेल्थ जर्नल के एक नए अध्ययन के मुताबिक वायु प्रदूषण का गर्भपात से सीधा संबंध है। रिसर्चरों ने पाया है कि भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश में उच्च वायु प्रदूषण की वजह से सालाना 3 लाख 49 हजार 681 प्रेगनेंसी लॉस हो रही है। रिसर्च के मुताबिक अगर ये देश भारत के वायु गुणवत्ता स्तर को पूरा कर लें तो सालाना प्रेगनेंसी लॉस में 7 फीसदी की कमी आ सकती है। एक अन्य रिसर्च के मुताबिक वायु प्रदूषण मां के गर्भनाल को तोड़ सकता है और गर्भ में भ्रूण तक पहुंचकर नुकसान पहुंचाता है।
रिसर्चरों ने दावा किया है कि द. एशिया में प्रेगनेंसी पर प्रदूषण का प्रभाव दिखाने वाली यह अपने तरह की पहली स्टडी है। स्टडी के निष्कर्ष सार्वजनिक और मातृ स्वास्थ्य को बेहतर करने के लिए महत्वपूर्ण हैं। दक्षिण एशिया में गर्भ का नुकसान दुनिया में सबसे ज्यादा है और यह दुनिया का सबसे ज्यादा पीएम2.5 प्रदूषित इलाका है।
भारत में हवा डब्ल्यूएचओ के मानक से चार गुना खराब
रिसर्चरों ने साल 2000 से 2016 के बीच पाया कि दक्षिण एशिया में प्रेगनेंसी लॉस का 7.1 फीसदी मां के प्रदूषित हवा में जाने से हुआ। भारत का वर्तमान एयर क्वालिटी स्टैंडर्ड 40 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन के एयर क्वालिटी गाइडलाइन के मुताबिक 10 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर सुरक्षित माना जाता है।

START DAILY QUIZ

Leave a Reply