महिला दिवस : 8 मार्च

8 मार्च को दुनियाभर में मनाए जाने वाले अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की थीम ‘नेतृत्व करती महिलाएं कोविड-19 दुनिया में समान भविष्य प्राप्त करने की ओर रखी गई है, जो जापान अंतरराष्ट्रीय सहयोग एजेंसी (जीका) के उद्देश्यों के अनुरूप है। जीका महिलाओं को विकास के लिए महत्वपूर्ण माध्यम है। यह सुनिश्चित करता है कि महिलाओं को बराबर की भागीदारी मिले, ताकि महिला उद्यमिता और व्यवसाय विकास को प्रोत्साहित किया जा सके। जीका इंडिया की प्रधान विकास विशेषज्ञ अदिति पुरी ने कहा कि हम लैंगिक समानता का समर्थन करते रहे हैं और हमारी परियोजनाएं महिलाओं के आर्थिक सशक्तिकरण, शिक्षा, स्वास्थ्य, अधिकारों और सुरक्षा को बेहतर बनाने पर केंद्रित हैं।

नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया और एसबीआई पेमेंट्स ने साझेदारी की

नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया और एसबीआई पेमेंट्स ने साझेदारी की है। इसके तहत ‘रुपे सॉफ्टपीओएस’ लांच किया गया है। स्मार्टफोन को मर्चेट पॉइंट ऑफ सेल टर्मिनल्स की तरह उपयोग कर सकेगा। दुकानदार पर 5 हजार तक का कॉन्टैक्टलेस पेमेंट ले सकेंगे।

रिटेलर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने ‘रिटेल स्टार्टअप अवार्ड 2021’ से सम्मानित किया

‘रिटेल एज ए सर्विस’ बिजनेस मॉडल के लिए किराना रिटेल ब्रांड किराना किंग को रिटेलर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (आरएआई) ने ‘रिटेल स्टार्टअप अवार्ड 2021’ से सम्मानित किया है। वर्चुअल कॉन्फ्रेंस के दौरान आरएआई-आरएलएस कॉन्क्लेव में किराना किंग को विजेता घोषित किया गया। इस समारोह में आरएआई के प्रतिष्ठित सदस्यों और जूरी सदस्यों ने हिस्सा लिया। किराना किंग के फाउंडर अनूप कुमार ने कहा, यह हमारे लिए गर्व की बात है। किराना किंग के नेटवर्क में 300 से अधिक किराना शॉप है।

‘तस्लीमाः संघर्ष और साहित्य’ को मिलेगा बिहारी पुरस्कार

केके बिरला फाउंडेशन ने मोहन कृष्ण बोहरा की आलोचनात्मक कृति ‘तस्लीमा : संघर्ष और साहित्य’ को बिहारी पुरस्कार के लिए चुना है। फाउंडेशन के निदेशक डॉ. सुरेश ऋतुपर्ण ने बताया कि पुरस्कार में प्रशस्ति पत्र, प्रतीक चिन्ह और ढाई लाख की राशि भेंट की जाती है।

आर्थिक लैंगिक अंतर सूची में भारत 149वें स्थान पर

वर्ल्ड इकॉनोमिक फोरम (डब्लूईएफ) की ग्लोबल जेंडर गैप रिपोर्ट-2020 के अनुसार आर्थिक लैंगिक रैंकिंग में भारत दुनिया में 149 वें स्थान पर है। भारत इस मामले में पाकिस्तान और अफगानिस्तान से पीछे है। जबकि भारत की कुल आबादी में 49 फीसदी महिलाएं हैं। हालांकि भारत में 15 वर्षों से लगातार लैंगिक अंतर कम हो रहा है।

स्वतंत्रता के 75 सालः आयोजनों के लिए पीएम मोदी की अध्यक्षता में 259 सदस्यों की समिति बनी, सोनिया गांधी, आडवाणी, रामदेव शामिल

देश की आजादी के 75 वर्ष 2022 में पूरे होने वाले हैं। इसके लिए साल भर आयोजनों की तैयारी है। इसके लिए 15 अगस्त 2022 से 75 हफ्ते पहले यानी इसी साल 12 मार्च से ही समारोह शुरू होंगे। इनकी रूपरेखा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में 259 सदस्यों की समिति बनाई गई है। इसमें पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटील, चीफ जस्टिस एएस बोबडे, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा के अलावा लालकृष्ण आडवाणी, सोनिया गांधी, सद्गुरु जग्गी वासुदेव, रामदेव, शरद पवार भी हैं। समिति में मोदी कैबिनेट के 30 मंत्री, सभी प्रदेशों के मुख्यमंत्री, राज्यपाल, तीनों सेनाओं के प्रमुख, चीफ जस्टिस, ब्यूरोक्रेट, विभिन्न दलों के प्रमुख नेता, समाज सेवा, आध्यात्मिक गुरु, विज्ञान, खेल, सिनेमा, संगीत, कला व संस्कृति, कारोबार सहित समाज के अलग-अलग क्षेत्रों की दिग्गज हस्तियों को शामिल किया गया है। स्वतंत्रता के 75वें साल में देशभर में जो भी समारोह आयोजित होंगे, उसकी रूपरेखा तय करने के लिए प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में समिति की पहली बैठक 8 मार्च को दिल्ली में होगी। 12 मार्च को गांधीजी नमक सत्याग्रह की 91वीं वर्षगांठ भी है।

आठ दिन में पुल बनाने वाली टीम के कप्तान राजस्थान से

उत्तराखंड के ऋषि गंगा इलाके में पिछले दिनों बर्फीली चट्टान गिरने से आई बाढ़ से बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुए पुल की जगह नया पुल बना दिया गया है। सीमा सड़क संगठन ने केवल 8 दिन में यह पुल तैयार कर दिया। इस टीम के कप्तान राजस्थान से हैं। पुल से यातायात संचालन भी शुरू हो गया। नागौर के लाचरी निवासी संगठन के चीफ इंजीनियर (वीएसएम, एवीएसमए) आशु सिंह राठौड़ के नेतृत्व में यह काम तेजी से किया गया। 90 मीटर लम्बा एकमात्र स्थाई पुल पानी के तेज बहाव के कारण बह गया था।

START DAILY QUIZ