केंद्र सरकार ने बाजरे का समर्थन मूल्य 2150 रुपए घोषित किए

राजस्थान में किसान को अपना बाजरा 1300 रुपए प्रति क्विंटल पर बेचना पड़ रहा है। जबकि भाजपा शासित पड़ोसी राज्य हरियाणा में यही बाजरा 2150 रुपए पर खरीदा जा रहा है। दोनों राज्यों के बीच बाजरे के मूल्य का यह अंतर चौंकाने वाला है। जबकि समर्थन मूल्य की गारंटी की मांग को लेकर देश का सियासी पारा पहले ही गरमाया हुआ है। हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने सोशल मीडिया पर बयान दिया कि राजस्थान के किसानों को हरियाणा में बाजरा बेचने नहीं दिया जाएगा। खट्टर के इस बयान पर राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि नए कृषि कानूनों के तहत एक देश एक बाजार के झूठ का पर्दाफाश खुद हरियाणा के मुख्यमंत्री कर रहे हैं। लेकिन बड़ा सवाल यह है कि सियासी अरोपप्रत्यारोप के बीच जमीन हकीकत क्या है।

विश्व एड्स दिवस : 1 दिसंबर

एचआईवी के साथ जी रहे मरीजों के लिए इस साल के अंत तक तीन और जिलों में एआरटी सेन्टर खुलने से दवा और जांच सुविधा और आसान होगी। नेशनल एड्स कंट्रोल आर्गेनाइजेशन (नाको) नई दिल्ली ने टोंक, उदयपुर के सागवाड़ा और करौली जिले में एआरटी सेन्टर की अनुमति मिल चुकी है। यहां पर सेन्टर खुलने के बाद प्रदेश भर में 28 एआरटी सेन्टर हो जाएंगे। यह जानकारी निदेशक (एडस) डॉ.आर.पी.डोरिया ने विश्व एड्स दिवस की पूर्व संध्या पर दी। उन्होंने बताया कि विश्व एड्स दिवस हर साल एक दिसंबर को मनाया जाता है। एचएसएस -2019 की रिपोर्ट के अनुसार गर्भवती महिलाओं में एचआईवी प्रसार गर राष्ट्रीय स्तर पर 0.24 फीसदी है। वहीं यह राजस्थान में 0.14 फीसदी दर्ज है।

12 राज्यों के मुख्यमंत्रियों और 4 राज्यपालों ने रमेशजी के डाक टिकट का लोकार्पण किया

डेटा स्मृति भास्कर समूह के चेयरमैन स्व. रमेशचंद्र अग्रवाल का 76वां जन्मदिवस। उम्रभर, लोगों से जुड़ने और उन्हें जोड़े रखने का संदेश देने वाले दैनिक भास्कर के चेयरमैन स्व. रमेशचंद्र अग्रवाल के नाम पर डाक विभाग ने डाक टिकट जारी किया है। रमेशजी की स्मृति में जारी यह टिकट उनके 76वें जन्मदिवस 30 नवंबर को 12 राज्यों के मुख्यमंत्रियों और 4 राज्यपालों को भेंट किया गया जिसे उन्होंने लोकार्पित किया। रमेश जी हमेशा कहते थे कि भास्कर का पाठक ही उसका असली मालिक है। दैनिक भास्कर रमेश जी का यह कथन पूरा करने के लिए दृढ़ संकल्पित है।

2020 की फीफा रैंकिंग में बेल्जियम ने शीर्ष स्थान हासिल किया

हाल ही में जारी की गई वर्ष 2020 की फीफा रैंकिंग में बेल्जियम ने शीर्ष स्थान हासिल किया है। इस सूची में फ्रांस दूसरे और ब्राजील तीसरे स्थान पर है। भारत की रैंकिंग इस साल एक स्थान गिरकर 109वीं हो गई है।

भारत ने वियतनाम के साथ हाइड्रोग्राफी क्रियान्वयन समझौते पर हस्ताक्षर किए

हाल ही में भारत ने वियतनाम के साथ हाइड्रोग्राफी क्रियान्वयन समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। इस समझौते के तहत दोनों देश हाइड्रोग्राफिक डेटा साझा करेंगे और नैविगेशनल चार्ट में एक दूसरे की मदद करेंगे

केंद्र सरकार की ‘स्वदेश दर्शन’ योजना

केंद्र सरकार की ‘स्वदेश दर्शन’ योजना के तहत शुरू होने वाले ‘लाइट-साउंड एंड मल्टीमीडिया लेजर शो’ के इंतजार की घडियां खत्म होने को है। चार साल के लंबे इंतजार और पहाड़ जैसी मुसीबतविवादों पर पार पाते हुए इस काम के टेंडर की तकनीकी बिड खोली जा चुकी है। जयपुर सहित 7 जगह के काम के लिए करीब 45 फर्मे सलेक्ट हुई हैं, जिनका 9 दिसंबर से पूरे सप्ताह प्रिजेंटेशन होगा। इसमें वॉइस ओवर (शो के लिए आर्टिस्ट) और पिक्चर क्लियरिटी के तौर पर फर्मों के नाम तय होंगे। काम में यही सबसे महत्वपूर्ण पड़ाव रहेगा, जिसके बाद फाइनेंशियल बिड खुलनी है। कमेटी के मेंबर सेक्रेटरी और ईडी वर्क्स माधव शर्मा के मुताबिक इस महीने यह प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। इसके बाद करीब 35 करोड़ के काम जनवरी से मौके पर शुरू होंगे। शतों के मुताबिक 6 महीने में सारे काम पूरे कर शो शुरू करने होंगे।
चमकेगा लेजर वाटर शो कुंभलगढ़ फोर्ट (राजसमंद), चित्तौडगढ़ फोर्ट (चित्तौड़), मीरा बाई स्मारक (मेरता नागौर), प्रताप गौरव केंद्र (उदयपुर), मचकुंड (धौलपुर), सांवलिया जी टेंपल (चित्तौड़गढ़) और जयनिवास उद्यान (जयपुर) के काम होने हैं।

एक जून से घटिया यानी बिना स्टैंडर्ड मानक का हेलमेट पहना तो 1 हजार रुपए का जुर्माना देना होगा

एक जून से घटिया यानी बिना स्टैंडर्ड मानक का हेलमेट पहना तो 1 हजार रुपए का जुर्माना देना होगा। जुर्माना पुलिस और परिवहन निरीक्षक वसूल सकेंगे। इतना ही नहीं घटिया हेलमेट (स्टैंड मानक का नहीं होने पर) पहनने वालों को बिना हेलमेट की श्रेणी में माना जाएगा। वहीं निर्धारित मानक के तहत हेलमेट नहीं होने पर निर्माता और बेचने वाले पर 2 लाख रुपए तक का जुर्माना और 6 माह की सजा का प्रावधान हैं।
केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय की ओर से हेलमेट को भारतीय मानक ब्यूरो की अनिवार्य सूची में शामिल करने के बाद मंत्रालय ने नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। इससे अब घटिया हेलमेल पर रोक लगेगी और सड़क दुर्घटनाओं में मरने वालों की संख्या में कमी आएगी। नोटिफिकेशन जारी होने के बाद अब हेलमेट निर्माता कंपनियां सब स्टैंडर्ड के हेलमेट का निर्माण नहीं कर सकेंगी।
वे एक्चुअल स्टैंडर्ड के हेलमेट का ही निर्माण कर सकेंगे। अभी तक घटिया हेलमेट बनाने वाले के खिलाफ कार्रवाई का कोई अधिकार नहीं था, अब घटिया हेलमेट बनाने वालों के खिलाफ बांट माप विभाग के इंस्पेक्टर और राज्य सरकार माध्यम से अधिकृत अन्य अधिकारी कार्रवाई कर सकेंगे। नए आने वाला हेलमेट लाइटवेट के होंगे। इनका वजन 1 किलो 200 ग्राम से ज्यादा का नहीं होगा। एयर वेंटीलेटर होना अनिवार्य हैं। अब हेलमेट निर्माता कंपनियां को इसी हिसाब से स्टैंडर्ड सेटअप लगाना होगा। इस बारे में रोड सेफ्टी विशेषज्ञ वीरेंद्र सिंह राठौड़ हेलमेट का कानून बनने से सड़क दुर्घटना में दुपहिया वाहनों पर घायल होने वाले लोगों की जान बचेगी। हेलमेट उच्च गुणवत्ता वाला और लाइटवेट का होने से लोग इसे पहनने में भी दिलचस्पी लेंगे। हेलमेट बोझ नहीं सुरक्षा के लिए हैं।

पवन ऊर्जा से चलने वाला दुनिया का पहला बड़ा मालवाहक जहाज,7000 कारें ले जाने में सक्षम

पवन ऊर्जा से चलने वाला दुनिया का पहला और सबसे बड़ा मालवाहक जहाज। करीब 7 हजार कारें ले जाने की क्षमता रखता है। डीजल की तुलना में तकरीबन 90% कम कार्बन उत्सर्जन करेगा। स्वीडन की शिपबिल्डर कंपनी द्वारा निर्मित इसे भविष्य का जहाज कहा जाता है। 650 फुट लंबा यह जहाज पारंपरिक कार कैरियर के समान आकार का है। इसमें 260 फीट के पांच टेलिस्कोपिक विंग्स है, जो 360 डिग्री घूम सकते हैं। ये विंग्स 35,000 हजार टन वजनी जहाज के लिए हवा से पर्याप्त पावर जनरेट करते हैं।

रूस ने मिसाइल का टेस्ट किया, ट्रैक करना कठिन

बाल्टिक सागर में अमेरिका से बढ़ते तनाव के बीच रूस ने दुनिया की सबसे घातक हाइपरसोनिक एंटी शिप मिसाइल जिरकान का परीक्षण किया है। रूसी रक्षा मंत्रालय ने बताया कि इस दौरान मिसाइल ने 8 मैक (9888 किमी प्रति घंटा) से ज्यादा की गति हासिल की। लाइव मॉनिटरिंग और रिकॉर्डिंग डेटा के अनुसार, मिसाइल ने 450 किमी दूर स्थित अपने लक्ष्य पर सीधा निशाना साधा। इसका परीक्षण बैरंट सागर में रात में किया गया है। यह इस मिसाइल का दूसरा सफल परीक्षण था। इसकी रेंज 450 किमी रही। मिसाइल ने 28 किमी की ऊंचाई से उड़ान भरी और 4.5 मिनट में 450 किमी की दूरी को तय करते हुए अपने लक्ष्य को तबाह कर दिया। इस दौरान मिसाइल ने 8 मैक की गति हासिल की। हाइपरसोनिक मिसाइल के मामले में सबसे आग रूस चल रहा है। आम मिसाइलों के रास्ते आसानी से ट्रैक किए जा सकते हैं। जबकि हाइपरसोनिक वेपन सिस्टम कोई तयशुदा रास्ते पर नहीं चलता।

सरकार ने स्वदेशी जीपीएस चिपके डिजाइन और मैन्युफैक्चरिंग के लिए प्रस्ताव मांगे

केंद्र सरकार ने 10 लाख एकीकृत नाविक तथा जीपीएस रिसीवर के डिजाइन, विनिर्माण, आपूर्ति और रखरखाव के लिए प्रस्ताव आमंत्रित किए हैं। स्थान की जानकारी देने वाली स्वदेशी तकनीक को बढ़ावा देने के लिए नाविक उपयोगकर्ता रिसीवर के व्यवसायीकरण करने की सरकार की योजना के तहत ये प्रस्ताव मांगे गए हैं। इंडियन रिजिनल नेविगेशन सेटेलाइट सिस्टम, जिसे नाविक के नाम से भी जाना जाता है, देश का नेविगेशन उपग्रह है, जिसका निर्माण भारत में और उसकी सीमा से लगे 1,500 किलोमीटर के क्षेत्र में उपयोगकर्ताओं को स्थान की सटीक सूचना सेवा मुहैया कराने के लिए तैयार किया गया है।

start Daily Quiz

Leave a Reply