महिलाओं से बढ़ते अपराध को लेकर प्यूर्टो रिको में डेढ़ साल का आपातकाल लागू

कैरिबियाई महाद्वीप प्यूर्टो रिको में महिलाओं और ट्रांसजेंडरों पर बढ़ते हमलों के चलते आपातकाल लागू कर दिया गया है। हमलों के खिलाफ वहां लगातार प्रदर्शन हो रहे थे। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए गवर्नर पेड्रो पीरलुइसी ने इस बारे में आदेश जारी किया है। ये आपातकाल 30 जून, 2022 तक लागू रहेगा।

रिटायर्ड आईपीएस हरिप्रसाद कर्मचारी चयन बोर्ड अध्यक्ष बनाया गया

रिटायर्ड आईपीएस हरि प्रसाद शर्मा को राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड का नया अध्यक्ष बनाया गया है। राज्य सरकार ने इस संबंध में आदेश जारी किए। सरकार ने बोर्ड में दो सदस्यों (डॉ. राम सिंह मीणा और डॉ. इरफान मेहर) की भी नियुक्ति की है।

राजेंद्र प्रसाद को मेरिट अवार्ड से नवाजा

वर्ल्ड कस्टम्स ऑर्गेनाइजेशन ओर से सीमा शुल्क दिवस का आयोजन किया गया। इस अवसर पर डब्ल्यूसीओ ने देश के 17 अधिकारियों को विश्व सीमा शुल्क लिए उत्कृष्ट कार्य करने पर मेरिट अवार्ड से नवाजा। जयपुर के राजेंद्र प्रसाद साभरिया को सीबीआईसी के चेयरमैन अजित कुमार की अध्यक्षता की टीम ने डब्ल्यूसीओ मेरिट अवार्ड दिया। साभरिया वर्तमान में सीमा शुल्क आयुक्तालय जोधपुर में अप्रेजर पद पर कार्यरत है।

लोगों को न्याय देने में राजस्थान 10वें नंबर पर, महाराष्ट्र सबसे आगे

देश में लोगों को न्याय देने के मामले में राजस्थान दसवें नंबर पर है। महाराष्ट्र सभी राज्यों में पहले नंबर पर है। टाटा ट्रस्ट की ओर से तैयार की गई जस्टिस रिपोर्ट 2020 के अनुसार राजस्थान गत वर्ष 14 वें नंबर पर था जो इस वर्ष दसवें नंबर पर आ गया है। राजस्थान का स्कोर 4.93 हैं। महाराष्ट्र के बाद इस मामले में तमिलनाडु, तेलंगाना, पंजाब और केरल का नंबर आता है। एक करोड़ से कम आबादी वाले राज्यों में त्रिपुरा, सिक्किम और गोवा अपने नागरिकों को सबसे ज्यादा न्याय दे रहे हैं।
देश में पुलिस, जेल और न्याय व्यवस्था के लिहाज से राजस्थान पांचवे नंबर पर है। जबकि इसी कैटगिरी में गत वर्ष राजस्थान को दसवें नंबर पर रखा गया था। महिला प्रतिनिधित्व के मामले में राजस्थान की स्थिति ठीक नहीं है। राजस्थान में महिला प्रतिनिधित्व दस प्रतिशत से कम हैं।
रिपोर्ट के अनुसार भारत में महिला जजों की संख्या महज 29 फीसदी है। हालांकि हाईकोर्ट में महिला जजों का औसत 11 से बढ़कर 13 फीसदी, जबकि सहायक अदालतों में 28 से बढ़कर 30 फीसदी हुआ है। नेशनल ज्युडिशियल डाटा ग्रिड के हिसाब से 3.84 करोड़ से ज्यादा मुकदमे जिला अदालतों में लंबित है। इसमें सभी हाईकोर्ट में लंबित 47.4 लाख मुकदमे भी जोड़ दें तो यह संख्या 4 करोड़ के पार पहुंच जाती है। हालत से निपटने के लिए बड़े पैमाने पर न्यायिक सुधार की आवश्यकता जताई है।

मुख्यमंत्री हुनर विकास योजना में 2 साल में मात्र 8 बालकों को लाभ

जिले में मुख्यमंत्री हुमर विकास योजना में दो साल में मात्र आठ बालकों को लाभ मिला है। ऐसे उपेक्षित, अनाथ व गुमशुदा बालक-बालिका जो बालगृह में रह रहे हैं और भविष्य में वे बाहर आने वाले हैं, उन्हें स्वावलंबी बनाने के लिए मुख्यमंत्री हुनर विकास योजना प्रारंभ की गई थी। पात्र बालक-बालिका ही नहीं मिल रहे हैं। अधिकारियों की अनदेखी के चलते स्थानीय बालगृह के बालक-बालिका नियमों के तहत योजना का लाभ नहीं उठा सके। विभाग के आंकड़ों को देखे तो 2019-20 में चार और 2020-21 में दो बालक-बालिकाओं ने लाभ उठाया है। यह योजना सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा चलाई जाती है। विभाग अब पात्र बालकबालिकाओं की तलाश में जुटा है।
ये हैं पात्र
सरकारी एवं अनुदानित बाल गृहों में रह रहे ऐसे बालक-बालिका जो 17 साल के हो चुके हैं और निकट भविष्य में बालगृह से निकलने वाले हैं, उन्हें इस योजना का पात्र माना गया है। इसके अलावा पालनहार योजना के लाभांवित बच्चे जो 17 साल के हो चुके है वे भी पात्र माने जाते हैं।
इस तरह किया जाता है हुनर विकास
प्रशिक्षण-पात्र बालक-बालिकाओं को राजस्थान कौशल एवं आजीविका मिशन के माध्यम से व्यवसायिक व तकनीकी प्रशिक्षण दिया जाता है। शिक्षा-योग्यता एवं इच्छित रोजगारोन्मुखी उच्च व तकनीकी शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए आर्थिक सहायता दी जाती है। स्वरोजगार के लिए उपकरण, कच्चा माल खरीदने के लिए एक मुश्त राशि उपलब्ध कराई जाती है

बांग्लादेश: रोहिंग्या मुस्लिमों के तीसरा बैच दूरदराज के भसन चार द्वीप पर भेजा

बांग्लादेश में रोहिंग्या मुस्लिमों के तीसरे समूह को बंगाल की खाड़ी में स्थित भसन चार द्वीप पर भेज दिया गया है। यह द्वीप महज 20 साल पहले समुद्र में उभरा है। इसी पर एक लाख रोहिंग्या को बसाने की व्यवस्था की गई है। मानवाधिकार समूह यहां सुरक्षा की चिंता जता चुके हैं, क्योंकि तूफान के लिहाज से संवेदनशील है।

पैरा बैडमिंटन क्वीन बनीं पारूल

गुजरात की पारूल दलसुखभाई परमार पैरा बैडमिंटन की डब्ल्यूएस एसएल 3 (महिलाओं की सिंगल स्टैंडिंग) कैटगरी में दुनियाभर में पहली रैंकिंग पर पहुंच गईं। परमार इस कैटेगरी में दुनिया की दूसरे नंबर की भारतीय खिलाड़ी मानसी गिरीशचंद्र जोशी से करीब एक हजार पॉइंट्स से आगे हैं। वर्तमान में परमार 3,210 अंकों के साथ वर्ल्ड रैंकिंग में सबसे ऊपर हैं। परमार के बेहतरीन खेल के चलते उन्हें वर्ष 2009 । में अर्जुन पुरस्कार मिल चुका है।

सीएम करेंगे वाइल्ड लाइफ सर्च एण्ड कंजर्वेशन अवेयरनेस सेन्टर की शुरुआत

अशोक गहलोत राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि शहीद दिवस पर सुबह अपने निवास पर वीडियो कॉफैन्स के माध्यम से जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय, जोधपुर में वाइल्डलाइफ रिसर्च एण्ड कन्जर्वेशन अवेयरनेस सेन्टर का शुभारम्भ करेंगे। इस दौरान विश्वविद्यालय के गांधी अध्ययन केन्द्र के नए कार्यालय का उद्घाटन भी हागा। इस अवसर पर कई मंत्री उपस्थित रहेंगे। कला, साहित्य, संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग की ओर से आयोजित राज्यस्तरीय सांस्कृतिक कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे गांधीवादी चिंतक डॉ. एसएन सुब्बाराव भी वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से कार्यक्रम में मौजूद रहेंगे। गांधीजी के प्रिय भजनों का गायन और पुस्तक वाचन भी किया जाएगा।

बालिकाओं को मिल सकेगा बराबरी का मौका, और खुले सैनिक-मिलिट्री स्कूल

अगले शिक्षण सत्र से सैनिक स्कूलों में बालिकाओं के प्रवेश मिलने से उन्हें सेना में जाकर देशसेवा करने के क्षेत्र में बराबरी का मौका मिल सकेगा। सुप्रीम कोर्ट के दखल से सेना में महिलाओं को प्रवेश मिल पाया, उसी तरह सैनिक स्कूल में राजस्थान हाईकोर्ट के दखल से प्रवेश मिल रहा है। सैनिक स्कूल व मिलिट्री स्कूल में बालिकाओं को दाखिला नहीं देने को लेकर 2016 में राजस्थान हाईकोर्ट में माही यादव ने जनहित याचिका दायर की थी, जो अभी विचाराधीन है।
मिजोरम से शुरुआत: सैनिक स्कूल में बालिकाओं को प्रवेश की शुरुआत 2018 में मिजोरम के छिंगछीप से हुई। इसके अलावा आंध्रप्रदेश के कालीकिरी, कर्नाटक के कोडागु व बीजापुर, उत्तराखंड के घोराखल, महाराष्ट्र के चंद्रपुर स्थित सैनिक स्कूल में भी अब लड़कियों को प्रवेश दिया जा रहा है।
सैनिक-मिलिट्री स्कूलः राजस्थान में बढ़नी चाहिए संख्या
33 सैनिक स्कूल हैं देश में, इनमें से 2 राजसथान के चित्तौड़ और झुंझुनूं में, अब अलवर में नया खोला जाएगा।
5 मिलिट्री स्कूल हैं देश में, इनमें से 2 राजस्थान अजमेर व धौलपुर में।

दिग्गजों की स्मृति में दिए जाएंगे अवॉर्ड

राजस्थानी सिनेमा विकास संघ और कला एवं संस्कृति विभाग की ओर से सात से 13 फरवरी तक राजस्थानी सिनेमा महोत्सव का आयोजन होगा। संघ के संरक्षक विपिन तिवारी ने बताया कि इसके तहत राज्य भर में राजस्थानी सिनेमा की दिशा और दशा पर टॉक शो व सेमिनार आयोजित होंगे। राजस्थानी फिल्मों को डिजिटल प्लेटफॉर्म पर प्रदर्शित किया जाएगा। 13 फरवरी को जेकेके में राजस्थानी सिनेमा के लीजेंड्स की स्मृति में इंडस्ट्रीज में विशेष योगदान के लिए कलाकारों का सम्मान किया जाएगा।

START DAILY QUIZ